West Bengal News: दिसंबर तक लागू हो जाएगा CAA, पश्चिम बंगाल के भाजपा विधायक का दावा


Asim Sarkar

Highlights

  • CAA दिसंबर तक लागू होने की संभावना -असीम सरकार
  • मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य में CAA को कभी लागू नहीं होने देंगी -तृणमूल कांग्रेस

west bengal information: पश्चिम बंगाल से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक असीम सरकार ने शुक्रवार को दावा किया कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) दिसंबर तक लागू होने की संभावना है। पश्चिम बंगाल में भाजपा के शरणार्थी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष सरकार ने कहा कि लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए राज्य में CAA को लागू करने की जरूरत है। असीम सरकार ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य शरणार्थी प्रकोष्ठ का प्रमुख होने के नाते, मुझे लगता है कि CAA आखिरकार इस दिसंबर तक लागू हो जाएगा। उस समय तक प्रक्रिया गति पकड़ने लगेगी। लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए खासकर सीमावर्ती जिलों में हिंदू शरणार्थियों के लिए CAA को पश्चिम बंगाल में लागू करने की जरूरत है। नदिया जिले के हरिणघाटा के विधायक सरकार ने पूर्व में कहा था कि अगर 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले CAA को लागू नहीं किया गया तो बांग्लादेश से आए हिंदू शरणार्थियों के बीच असंतोष को कभी दूर नहीं किया जा सकेगा। 

पश्चिम बंगाल क्या पूरे देश में नहीं लागू हो सकता CAA -ज्योतिप्रिय मल्लिक

तृणमूल कांग्रेस ने कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य में CAA को कभी लागू नहीं होने देंगी। राज्य के वन मंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक ने कहा कि असीम सरकार जैसे लोग इस तरह के झूठे दावे करके पिछड़े मतुआ समुदाय समेत प्रवासियों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिन लोगों ने पिछले चुनावों में मतदान किया, वे देश के सच्चे नागरिक हैं। मल्लिक ने कहा कि केवल पश्चिम बंगाल में ही नहीं, देश में कहीं भी CAA लागू नहीं किया जा सकता। CAA से संबंधित 300 मामले अदालत में लंबित हैं। असीम सरकार और उनके जैसे नेताओं को महज वोट बैंक के लिए इस तरह के झूठे दावे करने से बचना चाहिए।

देश में प्रिकॉशन डोज के बाद CAA की तैयारी में जुटेंगे 

इस सप्ताह की शुरुआत में, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष शुभेंदु अधिकारी को आश्वासन दिया था कि CAA के संबंध में नियम कोविड की एहतियाती खुराक देने की कवायद समाप्त होने के बाद तैयार किए जाएंगे। 

और देखें
Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker